घर में सकारात्मक ऊर्जा कैसे लाएं

जैसे की हम सभी जानते हैं कि हमारे आसपास की सृष्टि तथा पर्यावरण भरपूर ऊर्जा से भरा हुआ है । इस ऊर्जा को आगे जाकर सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा में वर्गीकृत किया जाता सकता है । आज हम आपको कुछ सरल वास्तु उपाय बता रहे है जिससे नकारात्मक ऊर्जा के प्रभाव को पूरी तरह से कम करके उसके बदले में चारों ओर सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है ।

मैं राजेश व्यास वास्तुविद आपको वास्तु के बारे में जानकारी दे रहा हु आप सभी के लिये बहुत उपयोगी रहेगी।

सकारात्मक ऊर्जा

1.वास्तु के अनुसार घर के मुख्य द्वार की दिशा पूर्व या उत्तर बहुत शुभ मानी जाती है। अगर किसी कारण से आपके घर का मुख्य द्वार पूर्व या उत्तर की दिशा में नहीं है, तो सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए दरवाजे पर स्वस्तिक, श्रीगणेश और ऊं जैसे शुभ निशान लगाना चाहिए।

2.सनातन धर्म में घर के आंगन में तुलसी का पौधा लगाने की परंपरा है। ऐसी मान्यता है कि तुलसी का पौधा वातावरण को शुद्ध और सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित होता है। तुलसी का पौधा घर के पूर्व या उत्तर दिशा में लगाना शुभ माना जाता है। परेशानियों को दूर करने के लिए रोज सुबह तुलसी को जल अर्पित करना चाहिए।

3.घर में नकारात्मक ऊर्जा को प्रवेश करने से रोकने के लिए दरवाजे और खिड़कियां अंदर की तरफ ही खुलनी चाहिए।

4.घर में बेकार की चीजों और कबाड़ को सहेजकर नहीं रखना चाहिए। इन चीजों से घर के अंदर नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।

5.अगर आप चाहते हैं कि आपके घर पर मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहे तो घर में रखी तिजोरी का मुंह उत्तर या पूर्व दिशा में होनी चाहिए।

6.वास्तु शास्त्र में ध्वनि की विशेष भूमिका होती है। घर पर नकारात्मक ऊर्जा को दूर भगाने के लिए सबसे आसान तरीका सुबह और शाम के वक्त पूरे जोश के साथ ताली बजाना चाहिए। घर के हर एक हिस्से में दिन में ताली जरूर बजाएं। ताली की ध्वनि से मन में खुशी उत्पन्न होती है। वास्तु में माना जाता है कि ताली, घंटी, शंख और ऊं का उच्चारण करने से घर पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

7.घर पर सकारात्मक ऊर्जा को बनाए रखने के लिए कभी भी कमरे में चीजें इधर-उधर फैली नहीं होनी चाहिए। घर में बेकार और टूटी फूट चीजों होने से नकारात्मक ऊर्जा आती है।

8.घर पर सकारात्मक ऊर्जा के लिए हर दिन सुबह या शाम के वक्त कुछ सुगंधित चीजों को जलाकर घर के हर एक कोने में फैलना चाहिए।

राजेश व्यास वास्तुविद
व्हाट्सएप : 09509916909 |  email :mrrajesh.vyas@gmail.com

Comment Box

Recommended For You

About the Author: faydekibaat